Tuesday, 21 February 2017

प्राचीन शिव मंदिर पुरानी बाजार ज्ञानपुर , भदोही , उत्तर प्रदेश ( भारत )-Awareness with bhago mat jago.

आप को यह जानकर हैरानी होगी , कि उत्तर प्रदेश के भदोही जिले मे स्थित ज्ञानपुर के पुरानी बाजार में एक बहोत ही प्राचीन शिव मंदिर है , जो नागेष्वर मंदिर के १०० मीटर उत्तर की ओर यह प्राचीन मंदिर स्थित है , स्थानीय लोगो का मानना है कि यह मंदिर आज से लगभग २०० वर्ष पूर्व का है , पुरानी बाजार के रहने वाले अनुपम श्रीवास्तव ने भागो मत जागो संस्था  के संस्थापक आदेश बरनवाल  एवं संचालक अम्बुज सिंह  से  इस प्राचीन मंदिर  के विषय पर बात की वह बताए कि इस मंदिर में प्रतिदिन  शिव भक्त पूजा अर्चना करने आते है , सप्ताह में तीन दिन इस शिव मंदिर भक्तो के द्वारा शिव चर्चा किया जाता , इस मंदिर में शिव लिंग को छोड़ बाकी मंदिर में रखी सभी मुर्तिया खंडित हो गयी है।  जब  भागो मत जागो की ओर से जब इस मंदिर का निरीक्षण किया गया तो वहाँ के स्थानीय लोगो का कहना था, कि यह मंदिर उनके श्रद्धा का प्रतिक है , एवं इस मंदिर का नव-निर्माण  होना जरुरी है , मंदिर के नव-निर्माण हेतु  स्थानीय लोगो ने चंदा भी इक्कठा किया , और नव-निर्माण  का कार्य भी चल रहा था  परन्तु चंदे की राशि पर्याप्त न होने के कारण मंदिर का नव-निर्माण कार्य  बीच में ही रुक गया जैसा की नीचे मंदिर के तस्वीर में भी दिख रहा है. आप सभी शिव भक्तो से भागो मत जागो एवं स्थानीय लोगो का अनुरोध है कि इस मंदिर के नव-निर्माण हेतू आप अपना योगदान दे ।




योगदान देने हेतू सपंर्क करे।
     


    संस्थापक                                                                                               संचालक
                                                                                                             
आदेश बरनवाल                                                                                       अम्बुज सिंह
संपर्क सूत्र - +918543075197                                                              संपर्क सूत्र - +919120419501
भागो मत जागो                                                                    वाइस प्रिंसिपल ऑफ़ ऑक्सफ़ोर्ड स्कूल जंगीगंज
                                                                                                                     भागो मत जागो


No comments:

Post a Comment