Sunday, 4 December 2016

आखिर प्रधानमंत्री जी की सोच युवा सोच क्यों है। ............भागो मत जागो

डेयरी में काम करने वाले मजदूरो का भी कैसा नसीब होता हैं , पाँचो अंगूलिया घी मे रहती हैं फिर भी वह कितना गरीब होता हैं " आज हमारे देश के प्रधानमंत्री जी की भी हालत कुछ ऐसी ही हैं , सत्ता होने के बावजूद भी वो देश हित में उतना योगदान नही दे पा रहे जितना वो देना चाहते हैं, विपक्ष की पार्टिया एवं कुछ देश का हित ना चाहने वाले स्वार्थी लोगो नें ऐसी हालात पैदा कर दी हैं कि प्रधानमंत्री जी उसी मजदूर की भाँति पाँचो अंगूलिया घी में तो हैं फिर भी हालात के आगे वो मजबूर हैं , इसका सबसे बडा कारण हमारी देश की सोच एवं राजनैतिक सविंधान हैं , हमारा देश युवा होने के बावजूद भी युवा नही हैं , क्योकि हमारी सोच युवा नही हैं , किसी ने सच ही कहा हैं कि हमारे देश मे युवा तो पैदा ही नही होते क्योकि जन्म के समय उनका सृजन पुरानी परंम्पराओ एव रूठिवादिता वाली सोच में होता हैं , युवा का मतलब होता हैं नया और नये से बनता हैं नवयुग ,नवनिर्माण आदि, किसी दार्शनिक ने भी कहा हैं कि-freely thinking and thinking about new things is sign of great thinker and civilised person. कितनी अजीब बात हैं कि एक 70 साल का व्यक्ति युवा सोच रखता हैं और हम जैसे युवा पुरानी परम्पराओ में लिप्त हैं, हम सब को युवा सोच रखने वाले प्रधानमंत्री नरेन्द् भाई मोदी जी का साथ देना चाहिये, मैं ZEE NEWS व उनकी टीम खासकर जी न्यूज के सन्थापक डाँ. सुभाष चन्द्रा एवं सुधीर चौधरी जी आभारी हूँ , जिन्होने हमारा वह हमारे जैसे युवाओ का पथ प्रदर्शन किया एवं समय-समय पर DNA के माध्यम सें हमारी राष्ट्रहित सोच को लोगो से अवगत कराते रहते हैं, अगर हम सब युवाओ की सोच प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी एवं राष्ट्र के प्रति सकारात्मक हो जाये तो मुझे पूर्ण विश्वास हैं कि हम सिर्फ देश निर्माण ही नही अपितु वैश्विक स्तर पर विश्व का पथ प्रदर्शन भी कर सकते हैं । - आदेश बरनवाल संथापक - AWARENESS WITH भागो मत जागो - मुख्य कार्यालय - महात्मा गाँधी लिंक मार्ग, गोपीगंज -221303 भदोही , उत्तर प्रदेश ( भारत )

No comments:

Post a Comment